Day 46. छत


एक वो दौर था जब हम छोटे थे , जब रात को खाने के बाद बिजली की कटौती होती थी , और सब छत पर भागते थे । लैम्प का शीशा चमका के और मिट्टी का तेल भरकर तैय्यार रखते थे, किसी के मकान ऊँचे नहीं थे और अपनी छत पर ख़ूब हवा लगती थी,…

Day 45. क्या मन नही करता ?


क्या कभी स्कूल जाने का मन नहीं करता ? बस्ता लगाने का , जिसमें एक तरफ़ किताबें और दूसरी तरफ़ कौपीयों के नीचे दबा हुआ टिफ़िन रखते थे । क्या मन नहीं करता है फिर से प्रार्थना स्थल पर सीधी लाइन में लगना और आँखे बंद करके प्रार्थना करना, और कभी कभी आँखे खोलकर देखना…

Day 35. Favourite Cartoons


I grew up watching a lot of cartoons. In fact I in my childhood only watched cartoons whenever I switched on the television. I watched cartoon shows very ardently until High school. There were some very amazing shows on cartoon network in my childhood like Dexter’s laboratory, Power puff girls, Popeye, Flinstones. It’s only later…

Thank You Sunday


Sunday was special, Sunday had a feeling. Morning tasted good and evening even better. I am going 10 years back in my life to the Sunday I used to have those days. My school was close to my home and everybody knew everybody in that small size school. My class was small and compact with…