Day 45. क्या मन नही करता ?


क्या कभी स्कूल जाने का मन नहीं करता ? बस्ता लगाने का , जिसमें एक तरफ़ किताबें और दूसरी तरफ़ कौपीयों के नीचे दबा हुआ टिफ़िन रखते थे । क्या मन नहीं करता है फिर से प्रार्थना स्थल पर सीधी लाइन में लगना और आँखे बंद करके प्रार्थना करना, और कभी कभी आँखे खोलकर देखना की सबकी आँखे बंद है क्या ? वो छोटी सी कक्षा में दूसरी सीट पर अपने बस्ते को रख कर जगह घेरना और एक किताब निकाल कर बस्ते के बराबर रख कर अपने दोस्त के लिए जगह घेरना ।

कॉपी के हर पन्ने पर ऊपर कोने पर पेज नम्बर लिखना और पहला पन्ने पर अपना नाम और दूसरा पन्ना भगवान राम के लिए छोड़ना । होम वर्क पूरा नही होने पर अगले पीरियड में पिटने की तय्यारी करना । क्या भूल गये उस क्लास मॉनिटर को जो सब बोलने वाले बच्चों का नाम ब्लैक बोर्ड पर लिख देता था , जिसमें अपना नाम सबसे ऊपर होता था । फिर जिस जिस का नाम है सबकी सूतायी होती थी ।

क्या मन नहीं करता उस बस्ते को फिर से पीठ पर टाँगने का जिसका वज़न हमारी पीठ को दुखा देता था । इंटर्वल से पहले ही टिफ़िन ख़त्म कर देना और फिर इंटर्वल में भागम भगाई खेलना , भूख लगने पर जेबें टटोलना और क़िस्मत से कभी २ रुपया भी घर से ले आए तो राजा बन जाना , क्या भूल गये वो अमरूद वाले भैया जो अमरूद में दो कट लगा के लाल मसाला भर के देते थे , अब किलो में अमरूद ले सकते हैं पर वो अमरूद जो हम आधा खा कर बस्ते में रख लेते थे उसका स्वाद कभी नहीं मिलेगा ।

क्या मन नहीं करता वो आख़िरी एक घंटे की आवाज़ को फिर से सुनना , जो बताता था छुट्टी हो गयी घर जाओ, और फिर भाग भाग कर स्कूल से घर जाना , क्या मन नहीं करता की चलो साइकल के पीछे करीएर में फिर से बैग फँसायें और निकल जाए स्कूल की ओर…..

-विवेक उपाध्याय

Advertisements

3 Comments Add yours

  1. Manish Malu says:

    Kya bat h bachpan ki yad dila di…👌👌😊😊

    1. Thank you so much manish for relating. 🙂

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s